कोलंबो : ईस्टर के दिन एक के बाद एक लगातार छह धमाकों से पूरा श्रीलंका हिल गया है। रविवार सुबह करीब पौने नौ बजे हुए इन धमाकों में 3 चर्च और 3 फाइव स्टार होटलों को निशाना बनाया गया है। पहला धमाका कोलंबो में सैंट एंटनी चर्च और दूसरा धमाका राजधानी के बाहर नेगोम्बो कस्बे के सेबेस्टियन चर्च में किया गया जबकि तीसरा धमाका पूर्वी शहर बाट्टिकालोआ के चर्च में हुआ। इसके अलावा तीन होटलों द शांगरीला, द सिनामॉन ग्रैंड और द किग्सबरी को भी निशाना बनाया गया।

कोलंबो नेश्‍नल हॉस्पिटल ने जानकारी दी है कि करीब 280 घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इसी बीच कोलंबो में सेना को बुला लिया गया है। राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है। सिरिसेना ने कहा, ‘‘ मैं इस अप्रत्याशित घटना से सदमे में हूं। सुरक्षाबलों को सभी जरूरी कार्रवाई करने के निर्देश दिये गये हैं। एक मंत्री ने बताया कि श्रीलंका की सरकार ने आपात बैठक बुलायी है। सभी आपातकालीन कदम उठाये गये हैं और जल्द ही आधिकारिक बयान जारी किया जाएगा। हर्ष डि सिल्वा ने कहा, ‘‘ बेहद भयावह दृश्य, मैंने लोगों के शरीर के अंगों को इधर-उधर बिखरा देखा। आपातकालीन बल सभी जगह तैनात हैं।’

पुलिस के मुताबिक अभी तक 156 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि मीडिया रिपोर्ट के अनुसार 160 से अधिक लोगों की मौत धमाके में हुई है जबकि करीब 370 लोग घायल हुए हैं। मृतकों में 35 विदेशी नागरिक भी शामिल हैं पुलिस ने बाकी जगहों पर अलर्ट जारी कर दिया है और सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया है।