दंतेवाड़ा : छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा जिले में पुलिस के साथ मुठभेड़ में दो नक्सली मारे गये। दंतेवाड़ा जिले के पुलिस अधिकारियों ने बृहस्पतिवार को यहां बताया कि जिले के कुवाकोंडा थाना क्षेत्र के धनिकरका और दुवालीकरका के जंगलों में हुई मुठभेड़ में पुलिस ने दो नक्सलियों को मार गिराया।

अधिकारियों ने बताया कि कुवाकोंडा थाना क्षेत्र में डीआरजी और जिला बल का संयुक्त दल गश्त के दौरान जब धनिकरका और दुवालीकरका के जंगलों में था, तभी नक्सलियों ने पुलिस पर गोलीबारी शुरू कर दी। इसके बाद पुलिस ने भी जवाबी कार्रवाई की।

कुछ देर तक दोनों ओर से गोलीबारी के बाद नक्सली वहां से भाग गये। इसके बाद पुलिस दल ने घटनास्थल की तलाशी ली। घटनास्थल से मलांगिर एरिया कमेटी का सदस्य वर्गीस और एक अन्य नक्सली का शव मिला है। इसके अलावा घटनास्थल से एक भरमार बंदूक और एक 315 बोर बंदूक बरामद हुई है। मुठभेड़ में एक नक्सली घायल हो गया।

राज्य के नक्सल विरोधी अभियान के महानिदेशक गिरधारी नायक ने बताया कि मुठभेड़ में मारे गये नक्सली वर्गीस के सिर पर पांच लाख रुपये का इनाम था और वह बारूदी सुरंग लगाने में माहिर था। नायक ने बताया कि वर्गीस के नौ अप्रैल को कुवाकोंडा थाना क्षेत्र में बारूदी सुरंग विस्फोट की घटना में शामिल होने की सूचना है। इस घटना में दंतेवाड़ा विधायक भीमा मंडावी और चार अन्य पुलिस कर्मियों की मौत हो गयी थी।
पुलिस अधिकारियों ने बताया कि मुठभेड़ में एक नक्सली घायल हुआ है। घायल नक्सली को प्राथमिक उपचार के बाद दंतेवाड़ा जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। दंतेवाड़ा जिला बस्तर लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत है। यहां 11 अप्रैल को मतदान हुआ था। वहीं, बृहस्पतिवार को राज्य के नक्सल प्रभावित कांकेर, राजनांदगांव और महासमुंद लोकसभा क्षेत्रों में मतदान जारी है।