वाशिंगटन : फ्रांस के वित्त मंत्री ब्रूनो ली मेयर ने चेतावनी दी है कि एयरबस को सब्सिडी देने के मुद्दे पर अमेरिका ने यूरोपीय संघ (ईयू) के खिलाफ शुल्क लगाया, तो यूरोपीय देशों का यह समूह जवाबी कार्रवाई के लिए तैयार है। साथ ही, उन्होंने इस मसले का ‘सौहार्द्रपूर्वक समाधान’ निकालने की अपील की है।

फ्रांसीसी मंत्री ने यहां अमेरिकी वित्त मंत्री स्टीवन म्यूचिन से मिलने के बाद संवाददाताओं से कहा कि यदि हमारे खिलाफ अमेरिका की ओर से अनुचित और अतार्किक प्रतिबंध लगाये गये, तो यूरोप भी एक जुट होकर करारा जवाब देने को तैयार है।

हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि दोनों पक्षों के बीच परस्पर इस प्रकार की कोई भी व्यापारिक कार्रवाई आर्थिक वृद्धि तथा अमेरिका और यूरोप दोनों की आर्थिक वृद्धि के लिए बुरी होगी. उन्होंने कहा कि हमें इससे बचना होगा। विश्व व्यापार संगठन के निष्कर्ष को देखते हुए मेरा मानना है कि अमेरिका और यूरोपीय संघ को एयरबस-बोइंग मामले के समाधान के लिए सौहार्द्रपूर्वक कोई समझौता करना चाहिए।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने सोमवार को चेतावनी दी कि यूरोपीय संघ ने एयरबस को सब्सिडी देना बंद न किया, तो अमेरिका उसके उत्पादों के खिलाफ अपने यहां नये आयात शुल्क लगायेगा। अमेरिका और यूरोपीय संघ के बीच बोइंग और एयरबस को गैर-कानूनी तरीके से सरकारी सहायता देने को लेकर आरोप-प्रत्यारोप 14 साल से चला आ रहा है।

यूरोपीय संघ के सूत्रों ने कहा कि वह बुधवार को कुछ अमेरिकी उत्पादों की सूची जारी करेगा, जिन पर यूरोपीय संघ में आयात शुल्क लगाये जा सकते हैं। सूत्र ने संकेत दिया कि इससे अमेरिका से यूरोपीय संघ में आने वाले करीब 20 अरब डालर के उत्पाद का व्यापार प्रभावित होगा।