नागपुर : राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ(आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत ने पहले चरण में गुरुवार सुबह महाराष्ट्र की नागपुर सीट पर मतदान किया। साथ ही उन्होंने ‘नोटा’ का विरोध करते हुए कहा कि मतदाताओं को इसका इस्तेमाल करने की बजाय किसी उम्मीदवार का समर्थन करना चाहिए।

नागपुर सीट पर गडकरी और पटोले के बीच टक्कर

महाराष्ट्र की नागपुर लोकसभा सीट से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी को चुनाव मैदान में उतारा है। वहीं उनके विरूद्ध कांग्रेस ने भाजपा के पूर्व सांसद नाना पटोले को अपना प्रत्याशी बनाया है। दोनों पार्टियां अपने-अपने उम्मीदवारों के जीत का दावा कर रहीं हैं।

राष्ट्रीय सुरक्षा, विकास और पहचान के लिये मतदान करें

भागवत ने वोट डालने के बाद पत्रकारों से बातचीत में कहा कि ‘‘ मतदान हमारा कर्तव्य है। सभी को मतदान करना चाहिए।’’ भागवत ने लोगों ने बड़ी संख्या में मतदान करने की अपील भी की। उन्होंने कहा, ‘‘ मतदान आवश्यक और सभी के लिए एक महत्वपूर्ण जिम्मेदारी है। राष्ट्रीय सुरक्षा, विकास और पहचान के लिए मतदान करें।’’ ईवीएम मे ‘नोटा’ की मौजूदगी पर उन्होंने कहा कि क्या किसी को भी यह बताने की आवश्यकता है कि उसे क्या चाहिए। उन्होंने कहा, ‘‘ चुप रहने से कुछ नहीं होगा, आपको हां या ना कहना ही होगा।’’ भागवत ने कहा, ‘‘ मैं उम्मीद करता हूं कि चुनाव के बाद सत्ता में आने वाली सरकार राष्ट्र हित में काम करेगी।’’

बता दें कि भागवत के अलावा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के महासचिव भैयाजी जोशी भी सुबह 6.50 बजे के आसपास महल इलाके में भउजी दफ्तरी स्कूल स्थित मतदान केन्द्र पहुंचे। जोशी ने भी लोगों से मतदान करने की अपील की।

गौरतलब है कि महाराष्ट्र में प्रथम चरण में लोकसभा की सात सीटों नागपुर, वर्धा, रामटेक, भंडारा-गोंदिया, चंद्रपुर, गढ़चिरौली-चिमूर और यवतमाल-वाशिम सीटों पर आज सुबह से मतदान जारी है। सभी निर्वाचन क्षेत्र राज्य के विदर्भ क्षेत्र में आते हैं।