नई दिल्ली : कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने आयकर विभाग की छापेमारी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हमले पर पलटवार करते हुए बुधवार को दावा किया कि ”मोदी राज” में दोषसिद्धि पहले होती है और जांच बाद में होती है। पूर्व केन्द्रीय वित्त मंत्री ने ट्वीट कर कहा, ”मोदी राज में दोषसिद्धि पहले होती है आउट जांच बाद में होती है।

मोदी राज में कोई व्यक्ति निर्दोष सिद्ध होने तक दोषी माना जाता है।” उन्होंने तंज कसते हुए कहा, ”अगर प्रधानमंत्री को कोई संदेह है तो उन्हें अपने मित्र अरुण जेटली से विचार-विमर्श करना चाहिए।” चिदंबरम ने यह भी कहा कि विधि सचिव प्रधानमंत्री को कानून की कुछ बुनियादी जानकारी दें।