नई दिल्ली : चारा घोटाला मामलों सजायाफ्ता राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के जमानत का सीबीआई ने सुप्रीम कोर्ट में विरोध किया है। सीबीआई ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दाखिल करते हुए कहा है कि लालू प्रसाद यादव अस्पताल से ही राजनीतिक गतिविधियों का संचालन कर रहे हैं। साथ ही सीबीआई ने लालू प्रसाद यादव के जमानत को मंजूर नहीं किये जाने की सिफारिश की है।

सीबीआई ने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल हलफनामे में कहा है कि लालू प्रसाद यादव ने आसन्न लोकसभा चुनाव के मद्देनजर जमानत की मांग रहे हैं। वह अब मेडिकल आधार पर जमानत मांग कर कोर्ट को गुमराह कर रहे हैं। साथ ही कहा कि लालू प्रसाद यादव को मिली सजा की गणना संचयी रूप से की जाये, तो उन्हें 3.5 साल नहीं, बल्कि 27.5 साल की जेल हुई है। वह जेल में ना रह कर अस्पताल के विशेष वार्ड में रह रहे हैं।

मालूम हो कि लालू प्रसाद यादव ने अधिक उम्र और बीमारी का हवाला देते हुए सुप्रीम कोर्ट में जमानत याचिका दायर की है। उन्होंने बताया है कि उनकी उम्र 71 साल हो चुकी है। मामले में सुप्रीम कोर्ट बुधवार को सुनवाई करेगा।