लखनऊ : उत्तर प्रदेश में भाजपा और अपना दल के बीच कुछ समय से चल रही राजनीतिक खींचतान के बाद शुक्रवार को दोनों दलों ने फिर मिलकर लोकसभा चुनाव लड़ने का फैसला किया. इसके तहत अपना दल दो सीटों पर चुनाव लड़ेगा।

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के साथ यहां अपना दल (एस) की नेता अनुप्रिया पटेल एवं अन्य नेताओं की बैठक में लोकसभा चुनाव मिलकर लड़ने का निर्णय किया गया। अमित शाह ने अपने ट्वीट में कहा, फिर एक बार-मोदी सरकार के संकल्प के साथ ‘भाजपा-अपना दल’ गठबंधन उत्तरप्रदेश में लोकसभा चुनाव साथ-साथ लड़ेगा। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि अपना दल प्रदेश की दो सीटों पर चुनाव लड़ेगा, जिसमें अनुप्रिया पटेल मिर्जापुर से चुनाव लड़ेंगी और दूसरी सीट पर दोनों दलों के नेता बैठकर चर्चा करेंगे।

गौरतलब है कि 2014 के लोकसभा चुनाव में भी अपना दल और भाजपा के बीच उत्तर प्रदेश में समझौता हुआ था। अनुप्रिया पटेल की पार्टी को 2014 के आम चुनाव में लोकसभा की दो सीटों पर जीत मिली थी। इनमें मीर्जापुर की सीट से अनुप्रिया पटेल और प्रतापगढ़ लोकसभा सीट से पार्टी नेता कुंवर हरिवंश सिंह चुनाव जीते थे। चुनाव जीतने के बाद अनुप्रिया पटेल को केंद्र में स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग का राज्यमंत्री भी बनाया गया। हालांकि, पिछले कुछ महीनों से दोनों दलों के बीच रिश्ते तल्ख होने की खबरें आ रही थी।